Our Mission

…is to make Bihar a Secure, Environmentally Safe, Healthy and Educated state – a place where poverty will be the thing of the past and the word Bihar will only be spoken as a metaphor for well-being.

आज के कार्यक्रम

30.08.2015 - 11:00am to 06:00pm

परिवर्तन यात्रा

स्थान: सीतामढ़ी के बाजपट्टी, रुन्नीसैदपुर एवं मुजफ्फरपुर के औराई में

विडियो

समाचारपत्रों से…

सुशील कुमार मोदी की कलम से…

सरकारी तंत्र के भारी दुरुपयोग से नीतीश ने करायी बिहार अपमान रैली

स्वाभिमान के नाम पर रैली कर 15 साल के जंगलराज से बिहार को शर्मिंदा करने वाले नेताओं की तारीफ में कसीदे पढ़े गए। इस बिहार अपमान रैली की मेजबानी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार की तीन क्षेत्रीय रैलियों में 10 लाख से ज्यादा लोगों को संबोधित किया, जबकि लालू प्रसाद, सोनिया गांधी और नीतीश कुमार प्रशासनिक तंत्र का दुरुपयोग कर पटना में मुश्किल से 50 हजार लोगों को जुटा पाए। गरीब रैला और अधिकार रैली के नाम पर अलग-अलग लाखों की भीड़ जुटाने वाले लालू प्रसाद और नीतीश कुमार आज मिलकर प्रधानमंत्री की रैलियों का दसवां हिस्सा भी नहीं जुटा सके।यह लालू-नीतीश से लोगों की बढ़ती निराशा का संकेत है। रैली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने जहां बिहार के विकास में लालू प्रसाद के बड़े योगदान की बात कह कर शताब्दी का सबसे बड़ा मजाक किया, वहीं उन्होंने बिहार के लोगों के पुराने जख्म पर नमक छिड़कने का भी काम किया। महागठबंधन में एकता के दावों को तार-तार करते हुए लालू प्रसाद ने कांग्रेस पर यह कर हमला किया कि यह 1990 के पहले का बिहार नहीं है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और महागठबंधन के मुखिया मुलायम सिंह यादव का नहीं आना भी कई सवाल उठाता है। कांग्रेस ने बिहार में 50 साल राज किया। वह राबड़ी सरकार में शामिल थी, इसलिए जंगलराज के गुनाह से बरी नहीं हो सकती। राज्य के पिछड़ेपन के लिए जिम्मेदार कांग्रेस को लोगों ने विधान सभा की मात्र 4 सीटों पर सिमटा दिया। नीतीश कुमार बिहार की बदहाली के दोषी राजद और कांग्रेस जैसी ठुकरायी हुई पार्टियों से मिलकर तीसरी बार सत्ता पाने की कोशिश कर रहे... read more
बिहार विधानसभा चुनाव 2015 में सुशील कुमार मोदी के नेतृत्व में अपनी सहभागिता के लिए हमसे जुड़िये

यहाँ क्लिक करें!

whatsapp

 

फेसबुक

हमारे पथ-प्रदर्शक

icons

सर्वे