Insert title here
22 अगस्त को होगी राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की बैठक
Date : 2019-08-21
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बताया कि राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति की 69वीं बैठक का आयोजन 22 अगस्त को होटल मौर्या में किया जायेगा जिसे भारतीय रिजर्व बैंक के डिप्टी गर्वनर श्री एम. के. जैन के अलावा मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार भी संबोधित करेगें। बैठक में वित्तीय वर्ष 2019-20 की प्रथम तिमाही (अप्रैल से जून) में विभिन्न बैंकों द्वारा राज्य में वितरित की गई ऋण की समीक्षा की जायेगी।
ज्ञातव्य है कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में बैंकों द्वारा 1 लाख 45 हजार करोड़ रूपये का ऋण वितरित किया जाना है। बैठक में साख जमा अनुपात, स्वयं सहायता समूह, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग, कृषि ऋण, बैंकों की नई शाखाएँ, ग्राहक सेवा केन्द्र, एटीएम, साईबर फ्रॉड, बैंकों का एनपीए, पशु एवं मत्स्य पालकों को के.सी.सी. आदि विषयों की विस्तृत समीक्षा की जायेगी। मालूम हो कि केन्द्र सरकार ने कृषि ऋण के समान ही समय पर ऋण का भुगतान करने वाले पशु एवं मत्स्य पालकों को के.सी.सी. उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है।
बैठक में राज्य के सभी वाणिज्यिक, को-ऑपरेटिव, निजी एवं क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के वरीय पदाधिकारी भाग लेंगे।
Download
Press Release 21-08-2019.docx
Press Release 21-08-2019.pdf



प्लास्टिक पैकेजिंग करने वाली 400 कम्पनियों को नोटिस
Date : 2019-08-20
कचरा प्रबंधन रुल्स, 2016 पर आयोजित दो दिवसीय क्षमतावर्द्वन कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार प्रदूषण नियंत्रण पर्षद की ओर से उत्पादों की प्लास्टिक पैकेजिंग करने वाली 400 से ज्यादा कम्पनियों को नोटिस देकर बिक्री स्थल से प्लास्टिक कचरा संग्रह करने का निर्देश दिया गया है। ऐसा नहीं करने वाली कम्पनियों के खिलाफ सरकार सख्त कार्रवाई करेगी।
श्री मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री की घोषणा के अनुरूप अगामी 02 अक्तूबर से ‘प्लास्टिक मुक्त भारत‘ बनाने की दिशा में बिहार में भी सिंगल यूज प्लास्टिक और शादी समारोह व अन्य मौके पर उपयोग होने वाले थर्मोकोल से बने कप,प्लेट, चम्मच, थाली, गिलास आदि सभी सामानों को प्रतिबंधित करने के लिए ड्राफ्ट नोटिफिकेशन बहुत जल्द जारी किया जायेगा। इस बाबत 600 लोगों ने अपना सुझाव दिया है जिनमें प्लास्टिक उत्पाद निर्माताओं व बिक्रेताओं के 236 सुझाव हैं।
इसी महीने पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा आहुत एक बैठक के बाद कोकाकोला व पटना नगर निगम के बीच प्लास्टिक पैकेजिंग के प्रबंधन के लिए एक समझौता हुआ है। कोकाकोला अपनी उपयोग की गई बोतलों को संग्रह कर शीघ्र ही पटना के गर्दनीबाग में उसके प्रबंधन के लिए प्लांट स्थापित करेगी। इसके साथ ही सुधा डेयरी को भी दूध के पाउच को संग्रह कर उसका प्रबंधन करने के लिए कहा गया है।
उन्होंने कह कि जलवायु परिवर्तन व ग्लोबल वार्मिंग के कुप्रभावों से मुकाबला और जल, वायु प्रदूषण से मुक्ति के लिए कचरा प्रबंधन एक चुनौती बना हुआ है। जनजागृति के द्वारा ही इस चुनौती का सामना किया जा सकता है। सिंगल यूज प्लास्टिक पर प्रतिबंध पूरे देश में एक साथ लागू कर तथा इसके निर्माण को ही रोक कर सफल किया जा सकता है। लोगों को अपनी आदत में बदलाव लाने की जरूरत है। जनसहभागिता व जागरूकता से ही इस आंदोलन को सफल किया जायेगा।
Download
PLASTIC-20-08-2019.docx
PLASTIC-20-08-2019.pdf
WhatsApp Image 2019-08-20 at 18.07.33.jpeg



अरुण जेटली के परिजनों से मिले उपमुख्यमंत्री , आवास पर जाकर डॉ. जगन्नाथ मिश्रा को दी श्रद्धांजलि
Date : 2019-08-19
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने दिल्ली स्थित एम्स में चिकित्सार्थ भर्ती पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का हालचाल जाना तथा उनके परिजनों से मुलाकात कीं। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ जगन्नाथ मिश्र के निधन की सूचना के बाद दिल्ली के द्वारका में सेक्टर 4 स्थित आवास पर जाकर उपमुख्यमंत्री ने उनके पार्थिव शरीर पर श्रद्धासुमन अर्पित किया। उपमुख्यमंत्री के साथ बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय भी थे। श्री मोदी ने अपने शोक संदेश में डा. जगन्नाथ मिश्रा के निधन को बिहार और देश की राजनीति की अपूरणीय क्षति बताते हुए कहा है कि निकट भविष्य में इसकी भरपाई सम्भव नहीं है। 3 बार बिहार के मुख्यमंत्री और केंद्र की सरकार में मंत्री पद का दायित्व निभा चुके डॉ मिश्र को भूला पाना बिहारवासियों के लिए सम्भव नहीं होगा।
श्री मोदी ने दिवंगत आत्मा की शांति व दुख की इस घड़ी में शुभचिंतकों, समर्थकों और परिजनों को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।
इसके पूर्व उपमुख्यमंत्री श्री मोदी ने नई दिल्ली स्थित एम्स जाकर पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। ज्ञातव्य है कि श्री जेटली विगत 09 अगस्त से ही सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद चिकित्सार्थ एम्स में भर्ती है। उनकी हालत अभी नाजुक बनी हुई है।
Download
PHOTO-2.jpg



पटना में अब डीजल चालित थ्री व्हीलर को परमिट नहीं
Date : 2019-08-17
महानगर भाजपा की ओर से पंचमुखी हनुमान मंदिर चौराहा, बोरिंग कैनाल रोड, पटना में आयोजित ‘संगठन पर्व, सदस्यता अभियान’ के मौके पर आयोजित सभा को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि ज्यादा धुआ उत्सर्जित करने वाली गाड़ियों पर कार्रवाई के साथ ही अब पटना में डीजल चालित थ्री व्हीलर को नया परमिट नहीं दिया जायेगा तथा डीजल से सीएनजी में थ्री व्हीलर को परिवर्तित कराने वालों को सरकार प्रोत्साहित करेगी। प्रधानमंत्री की घोषणा के अनुरूप आगामी 02 अक्तूबर से सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त भारत बनाने की दिश में प्लास्टिक कैरी बैग के उपयोग पर सख्ती बरती जायेगी तथा थर्मोकोल से बने सामानों पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जायेगा।
श्री मोदी ने कहा कि पटना और पूरे बिहार को वायु, जल व ध्वनि प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए अभियान चलाया जायेग। पहले चरण में सरकारी ड्राइवरों को ट्रेनिंग देकर हॉर्न का उपयोग कम से कम करने की हिदायत दी जायेगी। कर्कश हॉन के प्रयोग से बहरापन बढ़ता जा रहा है, इसलिए अनावश्यक हॉर्न बजाने व अपने वाहनों में म्युजिकल हॉर्न लगाने वालों पर कार्रवाई की जायेगी।
अगले जाड़ा में पटना की वायु गुणवत्ता को बेहतर बनाने का प्रयास किया जायेगा तथा इसके लिए इलैक्ट्रीक, बैट्री व सीएनजी चालित वाहनों को बढ़ावा देने के साथ ही ब्लिडिंग मैटेरियल को ढक कर ढोने के लिए सख्ती की जायेगी।
श्री मोदी ने इस मौके पर भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर नरेन्द्र मोदी और अमित शाह को और ताकत देने की अपील की। उन्होंने कहा कि आज सदस्यता के आधार पर भाजपा दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बन चुकी है। सदस्यता अभियान के वर्तमान दौर में साढ़े तीन करोड़ लोगों के भाजपा से जुड़ने के साथ ही भाजपा की सदस्य संख्या 14 करोड़ से अधिक हो गयी है। इस अवसर पर बांकीपुर विधायक नितिन नवीन, भाजपा महानगर अध्यक्ष सीताराम पाण्डेय, महिला मोर्चा की शालिनी वैश्कियार आदि मौजूद थे।
Download
PR-THREE-17-08-2019.docx
PR-THREE-17-08-2019.pdf



अनुच्छेद 370 पर बसपा सहित एक दर्जन पार्टियों को बदलना पड़ा अपना स्टैंड
Date : 2019-08-16
‘अटल जी के सपनों का कश्मीर’ विषयक व्याख्यान में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने अटल जी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि अनुच्छेद 370 और 35 ए को हटाने की हिम्मत कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने न केवल पंडित नेहरू के 70 वर्ष पूर्व की गलतियों को सुधारा बल्कि भारत और कश्मीर के बीच की दीवार को ढाह कर श्यामा प्रसाद मुखर्जी और अटल बिहारी वाजयेयी के सपनों को भी पूरा किया है। सरकार की इस ऐतिहासिक व साहसिक निर्णय के कारण बसपा, अन्ना द्रमुक सहित दर्जन भर पार्टियों को जनभावना को देखते हुए अपना स्टैंड बदलना पड़ा। व्याख्यान का आयोजन प्रज्ञा प्रवाह से सम्बद्ध संस्था चिति और कबीर के लोग के संयुक्त तत्वावधान में बीआईए के सभागार में किया गया था।
श्री मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों की नजरबंदी पर सवाल उठाने वालों को बताना चाहिए कि शेख अब्दुला को 11 वर्षों तक कांग्रेस की सरकार ने जेल में क्यों बंद रखा? 10 वर्षों तक कश्मीर में इंटरनेट क्यों नहीं जाने दिया? कांग्रेस की सरकार को धारा 144 की सरकार क्यों कही जाती थी? सुप्रीम कोर्ट तक जाने वाले मानवाधिकारवादी तब कहां थे?
अनुच्छेद 370 और 35 ए के खात्मे के बाद अब भारतीय संसद से पारित सभी कानून पूरे देश के साथ कश्मीर में भी लागू होगा। अब कश्मीर में कोई दोयम दर्जे का नागरिक नहीं होगा। वहां के आदिवासियों व पिछड़ों को भी आरक्षण का लाभ मिलेगा। गैर कश्मीरियों से शादी करने वाली कश्मीरी लड़कियों की संतानों को भी सम्पत्ति का अधिकार मिलेगा।
1948 में कश्मीर पर कबायलियों के हमले के बाद सेना की मदद पहुंचाने में देरी, कश्मीर में जनमत संग्रह कराने का निर्णय, कश्मीर के मामले को लार्ड माउंट बेटन के सुझाव पर संयुक्त राष्ट्र संघ में ले जाना, युद्धविराम की घोषणा कर भारतीय सेना के विजय अभियान को रोकना और अनुच्छेद 370 का अस्थायी प्रावधान बिना संविधान संशोधन संविधान में शामिल कराना पंडित नेहरू की ऐसी गलतियां थीं जिसे सुधारने की पहल 05 अगस्त, 2019 को की गई। 1960 में ही कश्मीर पर कांग्रेस सरकार की नीतियों को अटल जी ने ‘भयंकर भूलों की लम्बी कहानी’ बताया था।
Download
ATAL JI & KASHMIR-16-08-2019.docx
ATAL JI & KASHMIR-16-08-2019.PDF



सरकारी भवनों पर लगेंगे सोलर पाॅवर प्लांट
Date : 2019-08-14
चन्द्रगुप्त प्रबंधन संस्थान, पटना के हाॅल में आयोजित 15 दिवसीय ‘वन महोत्सव’ के समापन समारोह को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने पेड़ लगा कर पृथ्वी को बचाने का आह्वान किया तथा कहा कि 250 मेगावाट का सोलर पाॅवर प्लांट लगाने का टेंडर किया जा चुका है। सरकारी भवनों पर भी बड़े पैमाने पर सोलर पाॅवर प्लांट लगाए जायेंगे। जल स्रोतों को पुनर्जीवित करने के साथ ही वर्षा जल के संचयन का अभियान भी चलाया जा रहा है।
श्री मोदी ने कहा कि मत्स्य पुराण के अनुसार एक पेड़ 10 संतानों के बराबर है। हमारे पूर्वज प्रकृति के साथ जीना जानते थे। एक पेड़ साल में 100 किग्रा. आॅक्सीजन छोड़ता है जबकि एक मनुष्य को 740 किग्रा. आॅसीजन की जरूरत होती है। 7-8 पेड़ों से एक व्यक्ति की आॅसीजन की जरूरत पूरी होती है। एक पेड़ अपने जीवन में मनुष्य को एक करोड़ से ज्यादा का लाभ देता है। भारत दुनिया का अकेला ऐसा देश है जहां पेड़-पौधे, नदी, पहाड़, जीव-जंतु आदि की पूजा करने की परम्परा है। तुलसी विवाह और वट-साबित्री की पूजा कर हम प्रकृति संरक्षा का संदेश देते हैं।
उन्होंने प्रबंधन संस्थान के छात्र-छात्राओं का आह्वान किया कि वे ‘आउट आफ बाॅक्स’ जाकर सोचे तथा जीवन शैली व आदतों को बदलने की दिशा में कार्य करें। वन महोत्सव केवल पौधारोपण का अभियान नहीं है बल्कि इसके जरिए दुनिया के लिए चुनौती बन चुके जलवायु परिवर्तन के कुप्रभावों से मुकाबला करना है। आम लोगों के बीच ‘ग्रीन वैल्यू’ स्थापित करना है। अपनी आदतों में सुधार कर पानी व बिजली की खपत कम करने की जरूरत है। इसके लिए छात्र ‘थिंक ग्लोब्ली, एक्ट लोकली’ की तर्ज पर काम करके छोटी-छोटी शुरूआत और पहल से बड़ा परिवर्तन ला सकते हैं।
औद्योगिक क्रान्ति के बाद यह सोचा गया कि यह दुनिया केवल मनुष्यों के लिए है, जिसका कुपरिणाम आज हम भुगत रहे हैं। हमें विकास पर्यावरण की कीमत पर और प्रकृति से संघर्ष करके नहीं बल्कि सह अस्तित्व और तालमेल बैठा कर चाहिए।
Download
SOLAR PLANT-14-08-2019.docx
SOLAR PLANT-14-08-2019.pdf



सरकारी भवनों पर लगेंगे सोलर पाॅवर प्लांट
Date : 2019-08-13
वनमहोत्सव के दौरान डीआरएम आॅफिस, दानापुर के परिसर में पौधारोपण करने के बाद आयोजित सभा को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि निजी मकानों में वर्षा जल संचयन का प्रबंध करने वालों को पटना नगर निगम प्रोपर्टी टैक्स में 5 प्रतिशत की छूट देगा। राज्य सरकार ने स्कूल, अस्पताल व सरकारी भवनों पर वर्षा जल संचयन कर उसे पाइप के जरिए जमीन के नीचे पहुंचा कर भूजल के स्तर को बनाये रखने का निर्णय लिया है। राज्य के सभी जल स्रोतों के सर्वेक्षण के बाद अभियान चला कर उनका उद्धार किया जायेगा।
श्री मोदी ने कहा कि दुनिया में जितना पानी है उसका 97 प्रतिशत हिस्सा खारा है जिसका पीने से लेकर कृषि कार्य तक में कोई उपयोग नहीं है। मात्र 3 प्रतिशत पानी उपयोग लायक है उसमें भी पीने योग्य मात्र 0.3 प्रतिशत ही पानी है। कई स्थानों पर वह भी आर्सेनिक, फ्लोराइड और आयरन की अधिकता की वजह से प्रदूषित है। ऐसे में वर्षा के जल का संरक्षण व संचयन आवश्यक है। आज सभी को एक-एक बंूद पानी बचाने का संकल्प लेना होगा।
पूरी पृथ्वी तवे की तरह तप रही है। बढ़ते तापमान से पूरी दुनिया परेशान है। इस साल की गर्मियों में फ्रांस का तापमान 45-46 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। बिहार के दरभंगा में टैंकर से पानी पहुंचाना पड़ा। पंजाब में भूजल 450 फिट नीचे चला गया है। जलवायु परिवर्तन से सभी त्रस्त है। जिन इलाकों में पहले कभी बाढ़ नहीं आती थी, वहां बाढ़ आ रही है। असामान्य और कम समय में ज्यादा बारिश की वजह से कई तरह की परेशानियां पैदा हो रही हैं।
उन्होंने कहा कि पानी बचाना है तो पौधा लगाना और बचाना होगा। जहां खाली जमीन नहीं हो वहां घरों की छतों पर, गमले में पौधे लगाएं। पेड़ों को राखी बांध कर उसकी रक्षा का संकल्प लें। पानी और पेड़ रहेगा, तभी इस धरती पर जीवन रहेगा। यह सृष्टि केवल मनुष्यों के लिए ही नहीं बल्कि सभी जीव-जन्तुओं के लिए है।
Download
VARSHA JAL-13-08-2019.docx
VARSHA JAL-13-08-2019.pdf



दशहरा तक सभी मेडिकल काॅलेज अस्पतालों में आई बैंक
Date : 2019-08-11
दधीचि देहदान समिति, बिहार की ओर से ‘अन्तर्राष्ट्रीय अंगदान दिवस‘ पर आयोजित संकल्प संभा को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राज्य के सभी 9 मेडिकल काॅलेज अस्पतालों में दशहरा तक आई बैंक की स्थापना कर वहां प्रशिक्षित मानव बल व मोटिवेटर की भी नियुक्ति की जाएगी। इसके लिए मेडिकल काॅलेजों को डेढ़-डेढ़ करोड़ रुपये दिए जा चुके हैं। अगले एक साल में एक हजार काॅर्निया प्रत्यारोपण का लक्ष्य हासिल किया जाए। देहदान समिति ‘ब्लाइंड वाक’ आयोजित करेगी ताकि अंधों की जिन्दगी की जटिलता का अहसास हो सके।
श्री मोदी ने कहा कि विज्ञान की तमाम तरक्की के बावजूद मानव अंग (किडनी,लीवर, पेन्क्रियाज,हृदय,क्रोनिया) आदि न तो प्रयोगशाला में बनते हैं और न ही बाजार में मिलते हैं। जब कोई व्यक्ति इसे दान करेगा तभी इसका इस्तेमाल कर किसी की जिंदगी को हम बचा सकते हैं। पश्चिम बंगाल में 10 लाख लोगों ने देहदान का संकल्प पत्र भरा हैं जिनमें से मृत्यु उपरांत 1800 लोगों का देहदान हो चुका है।
उन्होंने कहा कि वर्ष 2013 में आरएसएस के वर्तमान सर संघ चालक श्री मोहन भागवत की प्रेरणा से दधीचि देहदान समिति का शुभारंभ किया गया। तबसे इस संस्था के माध्यम से रक्तदान, अंगदान, देहदान द्वारा जिंदगियों को बचाने और रौशन करने का पुनित कार्य किया जा रहा है। पटना के आईजीआईएमएस में अब तक 412 काॅर्निया तथा 54 किडनी के सफल प्रत्यारोपण किए गए हैं।
हमारी संस्कृति में दान की परंपरा प्राचीन काल से रही है। पहले देहदानी महर्षि दधीचि ने असुरों के नाश के लिए अपनी हड्डियों का दान किया। राजा शिबी ने शरणागत कबूतर की जान अपने शरीर का मांस देकर कर बचाया। क्या दानवीर कर्ण की धरती के लोगों से भी दान की अपील की आवश्यकता है?
Download
ANGDAAN-11-08-2019.pdf
ANGDAAN-11-08-2019.docx



एम्स में उपमुख्यमंत्री के गाॅल ब्लाडर में स्टोन का आपरेशन
Date : 2019-08-08
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के गाॅल ब्लाडर में स्टोन की शिकायत के बाबत उन्हें तीन दिन पहले एम्स, नई दिल्ली में भर्ती कराया गया था जहां सफलतापूर्वक उनका आॅपरेशन सम्पन्न हो गया है। फिलहाल श्री मोदी रविवार तक दिल्ली में स्वास्थ्य लाभ करने के बाद पटना वापस आयेंगे। उक्त जानकारी उपमुख्यमंत्री के आप्तसचिव शैलेन्द्र कुमार ओझा ने दी है।
Download
sushil-kumar-modi_650x400_41463326973.jpg



सुषमा जी के निधन से स्तब्ध हूं
Date : 2019-08-07
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने संवदेना व्यक्त करते हुए कहा है कि भारतीय राजनीति की सशक्त नेत्री, प्रखर वक्ता, पूर्व विदेश मंत्री एवं भाजपा की वरिष्ठ नेत्री श्रीमती सुषमा स्वराज ने पार्टी और सरकार मं अपनी हर भूमिका का बेहतरीन निर्वहन करते हुए हमेशा एक उच्च मानक स्थापित किया है। उनके निधन की खबर से मैं स्तब्ध हूं और सहसा विश्वास ही नहीं हो रहा है कि वे अब हमारे बीच नहीं हैं।
पूरे देश और पार्टी के साथ ही उनका निधन मेरी व्यक्तिगत क्षति है। सुषमा जी के साथ 40-42 वर्षों का लम्बा सम्पर्क रहा है। जब 1977 में वे मात्र 25 वर्ष की थीं तो मुजफ्फरपुर में जाॅर्ज साहब की सभा में उन्हें सुनने का सौभाग्य मिला था।
श्री मोदी ने कहा है कि भाजपा और भारतीय राजनीति में सुषमा जी का स्थान हमेशा रिक्त रहेगा, जिसकी भरपाई संभव नहीं है। उनका अचानक हमारे बीच से सदा के लिए चली जाना स्तब्धकारी और अत्यंत दुखदायी है। ईश्वर उनकी दिवंगत आत्मा को असीम शांति प्रदान करें व हम सबको इस आधात को सहने की शक्ति दें।
Download
[email protected]_1565150499527.jpg



केन्द्र सरकार का ऐतिहासिक व साहसिक कदम
Date : 2019-08-05
जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 और 35-ए को समाप्त करने पर प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को बधाई देते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि यह ऐसा ऐतिहासिक व साहिक कदम है जिसे उठाने का आज तक कोई हिम्मत नहीं कर सका था। सरदार पटेल ने 550 देशी रियासतों का भारतीय संघ में विलय करा कर देश की एकता और अंखंडता की नींव को मजबूत की थी। आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की जोड़ी ने जम्मू-कश्मीर को भारत के साथ पूरी तरह से एकीकृत कर पटेल और बाबा साहेब अम्बेदकर के सपनों को साकार किया है। आज का दिन भारतीय एकता व अखंडता को अक्षुण्ण बनाने के लिए इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में लिखा जायेगा।
Download
67625402_1140561936131129_8249024444803055616_o.jpg



स्मार्ट क्लास में टीवी स्क्रीन पर पढ़ेंगे बिहार के छात्र
Date : 2019-08-04
शहीद राजेन्द्र प्रसाद सिंह उच्च माघ्यमिक विद्यालय (पटना स्कूल), गर्दनीबाग में आयोजित ‘शताब्दी समारोह’ को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि अब बिहार के उच्च विद्यालयों के छात्र स्मार्ट क्लास में 55 इंच टीवी स्क्रीन पर वीडियो के माध्यम से पढ़ाई करेंगे। स्मार्ट क्लास का प्रयोग बिहार में प्रारंभ किया गया है। एनडीए सरकार के विगत 14 वर्षाें में शिक्षा पर 2 लाख 27 हजार करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं। इस साल का शिक्षा बजट 34 हजार करोड़ का है।
श्री मोदी ने कहा कि एक दौर गुरुकुल का था, उसके बाद शिक्षक, क्लासरूम और पाठ्यपुस्तक के जरिए पढ़ाई होने लगी। जमाना बदल रहा है। शिक्षक, क्लासरूम और पुस्तक केन्द्रित नहीं अब आईटी और स्मार्ट क्लास के जरिए पढ़ाने का दौर है।
एनडीए सरकार ने पहले लड़कियों और बाद में लड़कों को भी साइकिल देने की योजना शुरू की। इसके तहत अब तक डेढ़ करोड़ छात्र-छात्राओं जिनमें 65 लाख लड़कियां शामिल हंै को साइकिल वितरित की गई है। यह दुनिया में किसी एक राज्य द्वारा साइकिल वितरण की सबसे बड़ी योजना है। इसका परिणाम हुआ है कि बिहार की लड़कियां भी लड़कों की बराबरी कर रही है।
इस साल मैट्रिक बोर्ड की परीक्षा में 8 लाख 22 हजार लड़कें और 8 लाख 37 हजार लड़कियां शामिल हुईं थी जिनमें 80 प्रतिशत लड़कियां और 78 प्रतिशत लड़कें उत्तीर्ण हुए। उच्च शिक्षा से कोई वंचित नहीं रहे इसलिए सरकार ने स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना शुरू की है। इसके तहत 54 हजार आवेदकों को 1427 करोड़ का ऋण अब तक स्वीकृत किया गया है।
Download
SMART CLASS-04-08-2019.docx
SMART CLASS-04-08-2019.PDF



सेन्ट्रल लाइब्रेरी का गौरवपूर्ण इतिहास, यही गठित हुई थी छात्र संघर्ष समिति
Date : 2019-08-04
पटना विश्वविद्यालय के सेन्ट्रल लाइब्रेरी हाॅल में आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने अपने 45 साल पुराने संस्मरणों को ताजा करते हुए कहा कि इस लाइब्रेरी का इतिहास गौरवपूर्ण रहा है। 17-18 फरवरी, 1974को इसी हाॅल में बैठक कर बिहार छात्र संघर्ष समिति गठित हुई थी जो बाद में जेपी आंदोलन का मुख्य सूत्राधार बनी और छात्रों के इस आंदोलन के जरिए केन्द्रीय नेतृत्व तक को बदला जा सका। यह केवल ज्ञान का केन्द्र ही नहीं अन्याय, शोषण और भ्रष्टाचार के खिलाफ जनांदोलन का केन्द्र भी रहा है। यहां से सत्ता परिवर्तन की लड़ाई लड़ी गई है।
श्री मोदी ने कहा कि डिजिटल युग में आज दुनिया की अनेक लाइब्रेरी अस्तित्व संकट से जूझ रही है। पटना सेन्ट्रल लाइब्रेरी की प्रासंगिकता इसका डिजिटिलाइजेशन करके ही बचायी जा सकती हैं। आज की जरूरत है कि यहां हाईस्पीट इंटरनेट, वाई-फाई, एक्स्ट्रा पावर प्लग आदि की व्यवस्था हो ताकि छात्र यहां आकर अपने इलेक्ट्राॅनिक डिवाइस से ई-बुक आदि पढ़ सके।
लाइब्रेरी के सारे महत्वपूर्ण दस्तावेजों के डिजिटिलाइजेशन की आवश्यकता है और सभी छात्रों को मुफ्त एक्सेस की सुविधा मिले जिससे गरीब छात्रों को भी लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि बदले दौर में किसी लाइब्रेरी को डिजिटल करके ही उसे जीवित और प्रासंगिक बनाए रखा जा सकता है।
Download
PATNA CENTRAL LIBRARY-04-08-2019.docx
PATNA CENTRAL LIBRARY-04-08-2019.docx



मेडिकल काॅलेज कैम्पस से सीधे होगी डाॅक्टरों की नियुक्ति
Date : 2019-08-03
‘इंडियन काॅलेज आफ कार्डियोलाॅजी’ के वार्षिक सम्मेलन के उद्धाटन के बाद अपने सम्बोधन में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि अगले एक साल में डाक्टरों की रिक्तियों को भरने के लिए मेडिकल काॅलेज कैम्पस से सीधे नियुक्तियां की जाएगी। बिहार में डाॅक्टरों,नर्सों और पारा मेडिकल स्टाफ की भारी कमी इसलिए है कि 2005 के पहले की सरकारों ने सरकारी क्षेत्र में एक भी नया मेडिकल, नर्सिंग काॅलेज नहीं खोला। वर्तमान एनडीए सरकार 11 नए मेडिकल काॅलेज खोलने जा रही है। इस अकादमिक सत्र से बिहार के मेडिकल काॅलेजों में लगभग 1400 छात्रों का नामांकन होगा।
श्री मोदी ने कहा कि तमिलनाडु में जहां 49 मेडिकल काॅलेज और 253 आबादी पर 1 डाॅक्टर हैं वहीं केरल में 34 मेडिकल काॅलेज और 535 पर 01 डाॅक्टर, कर्नाटक में 57 मेडिकल काॅलेज और 507 की आबादी पर 01 डाॅक्टर जबकि बिहार में केवल 13 मेडिकल काॅलेज और 3207 जनसंख्या पर 01 डाॅक्टर हैं जबकि डब्ल्यूएचओ के मानक के अनुसार प्रति 1000 की आबादी पर 1 डाॅक्टर होना चाहिए। दिल्ली में एक हजार की आबादी पर 3 तो केरल और तमिलनाडु में 1.5 डाॅक्टर हंै।
पटना के आईजीआईएमएस, बेतिया व पावापुरी में एमबीबीएस की पढ़ाई प्रारंभ हो गयी है। पूर्णिया में 365 करोड़ की लागत से 300 बेड का, छपरा में 425 करोड़ की लागत से 500 बेड का, मधेपुरा में 781 करोड़ तथा बेतिया में 775 करोड़ की लागत से मेडिकल काॅलेज व अस्पताल निर्माणाधीन है। वैशाली, बेगूसराय, सीतामढ़ी, झंझारपुर और बक्सर में मेडिकल काॅलेज व अस्पताल के निर्माण के लिए टेंडर हो चुका है। कटिहार, किशनगंज व रोहतास में निजी क्षेत्र में मेडिकल काॅलेज संचालित है। निजी क्षेत्र के अन्तर्गत सहरसा में 100 सीट और मधुबनी में 140 सीट के मेडिकल काॅलेज की स्वीकृति मिल चुकी हैं।
आईजीआईएमएस के साथ हर मेडिकल काॅलेज में बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई प्रारंभ करने के निर्णय के साथ ही हर जिले में जीएनएम और अनुमंडल स्तर पर एएनएम स्कूल खोल कर अधिकांश जगहों पर पढ़ाई शुरू कर दी गई है।
Download
MEDICAL-03-08-2019.docx
MEDICAL-03-08-2019.pdf



अनियंत्रित भूजल के दोहन पर रोक की जरूरत
Date : 2019-08-03
वन महोत्सव के दौरान पटना के पीरमुहानी कब्रिस्तान में आयोजित राजकीय समारोह में पौधारोपण के बाद उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने जलवायु परिर्वतन, ग्लोबल वार्मिंग,जल व वायु प्रदूषण के कारण पृथ्वी पर उत्पन्न संकट से आगाह करते हुए कहा कि बोरिंग के जरिए भूजल के अनियंत्रित दोहन को रोकने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सभी धर्मों में पेड़ का महत्व स्वीकार किया गया है। सभी को ‘एक पेड़ लगायेंगे, घरती को बचायेंगे ’ का संकल्प लेना चाहिए।

श्री मोदी ने कहा कि कल-कारखाने लगाने व विकास के नाम पर पेड़ों को काटने का ही नतीजा है कि धरती तवे की तरह तप रही है। यूरोप के कई देशों में जहां लोग गर्मी की छुट्टियां मनाने जाते थे, वहां का तापमान 40 डिग्री तक पहुंच गया हैं। एयरकंडिश्नर, बिजली की खपत व गाड़ियों की भरमार की वजह से तरह-तरह की गैस पैदा हो रही हैं और गर्मी बढ़ रही है। जलवायु परिवर्तन का सर्वाधिक कुप्रभाव कृषि उत्पादन और गरीबों पर पड़ रहा है।

पानी का संकट गहराने के कारण बिहार के कई जिलों में टैंकर से पानी पहुंचाना पड़ा है। गर्मी की शुरूआत में ही भूजल के नीचे गिरने से हजारों चापाकल ठप्प पड़ गए। सरकार ने निर्णय लिया है कि सभी अस्पतालों, स्कूलों व सरकारी भवनों के वर्षा जल का संचय कर उसे 50 फीट नीचे घरती में पाइप के जरिए डाला जायेगा ताकि भूजल का स्तर बना रहे। सरकार ने राज्य के सभी तालाब-पोखर, आहर-पईन आदि की उड़ाई और पुर्नोद्धार का भी निर्णय लिया है। ‘जल-जीवन-हरियाली’ अभियान के तहत एक-एक बूंद जल का संरक्षण व अधिक से अधिक पेड़ लगा कर ग्रीन कवर बढ़ाने की जरूरत है। 15 दिवसीय वन महोत्सव के दौरान डेढ़ करोड़ पौधे लगाये जायेंगे। यह एक जन अभियान है, इससे सभी को जुड़ने की जरूरत है।
Download
PR-POUDHAROPAN-03-08-2019.docx
PR-POUDHAROPAN-03-08-2019.PDF



पिछले साल डीबीटी के जरिए 1.41 लाख करोड़ की बचत
Date : 2019-08-03
‘बजट सब्सिडीज आॅफ द सेंट्रल गवर्मेंट एंड 14 मेजर स्टेट’ विषयक व्याख्यान में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि 2018-19 में केन्द्र सरकार ने जहां टेक्नाॅलाॅजी के प्रयोग से विभिन्न योजनाओं से जहां बिचैलियों और लिकेजेज को खत्म किया वहीं लाभार्थियों के बैंक एकाउंट को आधार सिडिंग कर डीबीटी के जरिए सीधे राशि हस्तांतरित कर 1 लाख 41,677 करोड़ की बचत की। उन्होंने कहा कि एलपीजी की सब्सिडी उपभोक्ताओं के एकाउंट में ट्रांसफर कर 4 करोड़ 23 लाख फेक व डुप्लीकेट कनेक्शन की पहचान कर रद्द किया गया जिससे 2018-19 में 59 हजार 599 करोड़ की बचत हुई।
श्री मोदी ने कहा कि 2 करोड़ 98 लाख फर्जी व दोहरे राशन कार्ड की पहचान कर 47 हजार 663 करोड़ की बचत की गई। इसी प्रकार मनरेगा के तहत डीबीटी से भुगतान की व्यवस्था के कारण 20 हजार 790 करोड़ बिचैलिए के हाथों में जाने से बचाया गया। आंगनबाड़ी के 1 करोड़ 98.8 फेक व डुप्लीकेट लाभार्थियों को सिस्टम से हटा कर 1,523 करोड़ की बचत की गई। देश की सभी उर्वरक दुकानों में पीओएस मशीन लग कर यूरिया की कालाबाजारी व तस्करी पर कारगर रोक से 10 हजार करोड़ की बचत हुई।
2019-20 के बजट में केन्द्र सरकार ने 3 लाख 1,694 करोड़ रुपये तथा बिहार सरकार ने 6,068 करोड़ की सब्सिडी का प्रावधान किया है। बिहार में केवल बिजली पर ही 3500 करोड़ की सब्सिडी दिया जाता है। केन्द्र सरकार मुख्यतः उर्वरक (74986 करोड़), खाद्य(1लाख 84 हजार करोड़) एवं पेट्रोलियम पदार्थों(37487करोड़) पर सब्सिडी देती है, जबकि पेट्रोल-डीजल पर सब्सिडी पूरी तरह से खत्म कर दिया गया है। घर-घर बिजली और उज्जवला के तहत एलपीजी पहुंचने के बाद किरासन तेल जिस पर सर्वाधिक सब्सिडी दी जाती थी की खपत भी आधी रह गयी है। हरियाणा जैसे राज्य पूरी तरह से किरासन मुक्त हो गया है।
Download
65923419_1119274248259898_2226419627867504640_o.jpg



सभी सरकारी भवनों, अस्पतालों व स्कूलों में होगी रेन वाटर हार्वेस्टिंग
Date : 2019-08-02
ए एन काॅलेज,पटना के परिसर में ‘वन महोत्सव’ के दूसरे दिन पौधारोपण के बाद आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि सरकारी भवनों, अस्पतालों व स्कूलों में वर्षा जल की हार्वेस्टिंग कर जमीनी जल स्तर को बढ़ाया जायेगा। नए बनने वाले बड़े भवनों में भी रेन वाटर हार्वेस्टिंग अनिवार्य किया जायेगा। राज्य के सभी तालाबों की मैपिंग करा ली गयी है, एक महीने के अंदर उन्हें अतिक्रमण मुक्त कर उड़ाही का अभियान चलाया जायेगा। राज्य के अन्य सभी जल स्रोतों का भी पुर्नोद्धार किया जायेगा।
श्री मोदी ने आह्वान किया कि हर परिवार एक पौधा जरूर लगायें और संरक्षण कर उसे पेड़ बनायें। पौधारोपण के अभियान को जनांदोलन बनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि पहले ही निर्णय लिया जा चुका है कि सड़क व भवनों के निर्माण के लिए अब कोई पेड़ नहीं कटेगा। अगर बहुत मजबूरी की स्थिति में कोई पेड़ काटना पड़ा तो उससे कई गुना अधिक पेड़ लगाये जायेंगे। आर ब्लाॅक-दीघा फोरलेन सड़़क से कई बड़े पेड़ों का प्रत्यारोपण हैदराबाद की एक कम्पनी की सहायता से सगुना मोड़ के आसपास कराया जा रहा है।
जलवायु परिवर्तन व ग्लोबल वार्मिंग के कुप्रभावों से आगाह करते हुए कहा कि अनियंत्रित विकास और प्रकृति के दोहन का नतीजा है कि आज हमारी पृथ्वी संकट में है। भारत सहित दुनिया के अनेक हिस्सों में आज पानी का संकट उत्पन्न हो गया है। इस साल बिहार के जल प्रचूरता वाले दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर आदि जिलों में नवम्बर-दिसम्बर के महीने में टैंकर से पानी पहुंचाना पड़ा। पर्यावरण की कीमत पर हमें विकास स्वीकार नहीं है।
इस पृथ्वी को बचाना है तो पेड़ लगाना व बचाना होगा। एक पेड़ जल का संचयन, मिट्टी संरक्षण के साथ ही बाढ़, सुखाड़, तूफान, लू के कुप्रभावों को कम करता है। हमारी संस्कृति और परम्परा में पेड़ की महत्ता सर्वविदित है। एक पेड़ 10 संतानों के बराबर होता है। इसलिए केवल पौधा लगाए ही नहीं बल्कि वृक्ष बनाने तक उसकी चिन्ता करें।
Download
PR-A N COLLEGE-02-08-2019.docx
PR-A N COLLEGE-02-08-2019.PDF



15 दिवसीय वन महोत्सव में लगेंगे डेढ़ करोड़ पौधे
Date : 2019-08-01
बिहार वेटनरी काॅलेज के मैदान में ‘वन महोत्सव’ के शुभारंभ के अवसर पर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने ‘एक पौधा लगाएंगे, धरती को बचायेंगे’ का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि 01 से 15 अगस्त तक वन महोत्सव के दौरान वन विभाग की ओर से 1 करोड़ तथा ग्रामीण विकास विभाग की ओर से मनरेगा के तहत 50 लाख यानी डेढ़ करोड़ पौधारोपण का लक्ष्य है। झारखंड के बंटवारे के बाद बिहार में मात्र 8% वन क्षेत्र बचा था। सरकार ने कृषि रोड मैप के तहत इसे बढ़ाकर 2017 में 15% कर दिया है। अब हमारा लक्ष्य 2022 तक राज्य के ग्रीन कवर को बढ़ाकर 17 प्रतिशत करना है।

बिहार सरकार ने ‘जल-जीवन और हरियाली’ तथा भारत सरकार ने ‘जल शक्ति अभियान’ की शुरूआत की है। बिहार सरकार ने निर्णय लिया है कि राज्य के सभी नहर, तालाब, सड़क किनारे जहां भी संभव हो, जमीन के हर उस हिस्से में पौधरोपण किया जाएगा। निजी तौर पर पौधा लगाने वालों को वन विभाग 10 रुपये की दर से पौधा उपलब्ध करायेगा। आम लोग इस अभियान से जुड़ें और हर परिवार एक पौधा अवश्य लगाएं।

भारत दुनिया का अकेला देश है जहां पेड़-पौधे, नदी-तालाब, पशु-पक्षी व जीव-जन्तु आदि की पूजा की प्राचीन परम्परा है। मत्स्य पुराण की मान्यता है कि एक पेड़ 10 पुत्रों के समान होता है। एक पेड़ वर्षा को आकर्षित, मिट्टी व जल को संरक्षित, बाढ़़ व सुखाड़ के कुप्रभाव तथा वायु व जल प्रदूषण को कम करने के साथ ही हमें फल-फूल, छाया, ईंधन, लकड़ी देता है और वायुमंडल को भी ठंढा करता है।
विकास की अंधी दौड़ ने प्रकृति का अनियंत्रित दोहन कर आज धरती के अस्तित्व को खतरे में डाल दिया है। हमारी सरकार सहअस्तित्व पर आधारित पर्यावरण व समावेशी विकास के मॉडल पर काम कर रही है।
Download
PR-VAN MAHOTSAV-01-08-2019.docx
PR-VAN MAHOTSAV-01-08-2019.pdf



जेपी सेनानियों की मुफ्त चिकित्सा सुविधा और बेहतर की जाएगी
Date : 2019-07-31
‘जे पी सम्मान योजना सलाहकार पर्षद’ की बैठक पर्षद के अध्यक्ष सह उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की अध्यक्षता में सचिवालय स्थित उनके कक्ष में हुई जिसमें पिछले एक साल में 63 नए आवेदकों को सम्मान पेंशन के लिए संसूचित करने के साथ ही चयनित सेनानियों को देय मुफ्त चिकित्सा सुविधा को और बेहतर करने का निर्देश दिया गया। बैठक में सलाहकार पर्षद के मंत्री समूह के सदस्य उर्जा मंत्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव भी उपस्थित थे।
बैठक के बाद श्री मोदी ने बताया कि चयनित 2,717 जेपी सेनानियों को सम्मान पेंशन दी जा रही है। आपातकाल के दौरान छह महीने से अधिक समय तक जेल में रहे 963 को प्रतिमाह 10 हजार रुपये और छह महीने से कम समय तक जेल में रहे 1,754 को 5 हजार रुपये दिए जा रहे हैं। सम्मान पेंशन योजना मद में वित्तीय वर्ष 2009-10 से फरवरी, 2019 तक 1,46,74, 82, 500 रुपये दिए गए हैं।
जेपी सम्मान योजना के अन्तर्गत चयनित सेनानियों को बिहार राज्य पथ परिवहन निगम व बुडको की बसों मे राज्य के अंदर मु्फ्त यात्रा तथा राज्य सरकार के अस्पतालों एवं सीजीएचएस से मान्यता प्राप्त गैर सरकारी अस्पतालों में चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराया जा रहा है। सेनानियों की मुफ्त यात्रा सुविधा के लिए परिवहन निगम को 10 लाख रुपये की अग्रिम राशि दी गयी है तथा अब तक 16 सेनानियों के आवेदन को स्वीकृत कर उन्हें मुफ्त चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायी गयी हैं।
बैठक में सलाहकार पर्षद कार्यालय के सचिव राजीव वर्मा व जेपी सम्मान योजना के प्रभारी पदाधिकारी ,गृह विभाग अंजनी कुमार आदि मौजूद रहे।
Download
JP SENANI-31-07-2019.docx
JP SENANI-31-07-2019.PDF



मुस्लिम महिलाओं के लिए मुक्ति का दिन
Date : 2019-07-30
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राज्यसभा से तीन तलाक बिल पारित होने पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि आज मुस्लिम महिलाओं के लिए ‘मुक्ति का दिन’ है। मुस्लिम बहनों को आजादी से जीने का हक और न्यायपूर्ण जीवन का अधिकार दिलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद देते हुए कहा कि अब उन्हें अपमान और प्रताड़ना की जिन्दगी से छुटकारा मिलेगी।
श्री मोदी ने कहा कि भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है। इस देश की सभी महिलाओं को सम्मान के साथ जीने का अधिकार है। दुर्भाग्यपूर्ण रहा कि इस देश की महिलाओं को सती प्रथा, बाल विवाह व विधवा विवाह निषेघ की कुप्रथाओं से मुक्ति तथा मतदान व अन्य नागरिक अधिकारों की प्राप्ति के लिए लम्बा संघर्ष करना पड़ा है। संसद की दोनों सदनों से तीन तलाक बिल का पारित होना सरकार की नहीं बल्कि देश की करोड़ों मुस्लिम महिलाओं की जीत है
Download
TEEN TALAQ-30-07-2019.docx
TEEN TALAQ-30-07-2019.pdf



Insert title here