Insert title here
बिहार में एनडीए को वाॅकओवर,यूपीए का खाता भी नहीं खुलेगा
Date : 2019-05-20
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में बिहार में एनडीए को वाॅकओवर मिला हुआ है क्योंकि एनडीए और यूपीए (महागठबंधन) के वोट में 20 प्रतिशत से ज्यादा का फासला है। इसबार महागठबंधन का बिहार में खाता भी नहीं खुल पाएगा। 2009 में जदयू और 2014 में एलजेपी के साथ चुनाव लड़ने वाले एनडीए को बिहार में यूपीए से करीब 11 प्रतिशत से ज्यादा मत मिले थे। इस बार जदयू और एलजेपी के साथ आने से यह अन्तर 20 प्रतिशत से ज्यादा का है।
2009 के लोकसभा चुनाव में भाजपा जदयू के साथ चुनाव लड़ी थी तो 38 प्रतिशत वोट प्राप्त हुए थे और 32 सीटों पर जीत मिली थी। तब राजद-लोजपा साथ थे और उन्हें 26 प्रतिशत मत और मात्र 4 सीटों पर जीत मिली थी। एनडीए को यूपीए से 11 प्रतिशत से अधिक की बढ़त थी।
2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा-लोजपा साथ चुनाव लड़ी थी और एनडीए का वोट प्रतिशत 39.41 था तथा 31 सीटों पर जीत मिली थी जबकि यूपीए को मात्र 29 प्रतिशत वोट मिला था जो एनडीए से 10 प्रतिशत कम था। 2014 में अलग से चुनाव लड़े जदयू को 16 प्रतिशत वोट मिला था जो आज एनडीए के साथ है।
श्री मोदी ने कहा कि एनडीए के 2014 के 39.41 प्रतिशत वोट में जदयू के 16 प्रतिशत को जोड़ लें तो 2019 में एनडीए के पास 52.41 प्रतिशत वोट है जो यूपीए से करीब 22 प्रतिशत अधिक है। जब एक-दो प्रतिशत वोट के अन्तर से हार-जीत का फासला बढ़ जाता है तो इतनी बड़ी बढ़त के बाद क्या यूपीए बिहार में अपना खाता भी खोल पायेगा?
Download
NDA-20-05-2019.docx
NDA-20-05-2019.pdf



चुनाव आयोग व अन्य संवैधानिक संस्थाओं से कांग्रेस करती रही है छेड़छाड़
Date : 2019-05-18
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि चुनाव आयोग सहित अन्य संवैधानिक संस्थाओ की गरीमा को गिराना और उसके कामकाज में हस्तक्षेप करना कांग्रेस की आदत रही है। 1989 में राष्ट्रपति चुनाव के दौरान मनोनुकूल काम नहीं करने से उत्पन्न मतभेद के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने मुख्य चुनाव आयुक्त पेरी शास्त्री के पर कतरने के लिए तो 1993 में टी एन शेषन से मतभेद के बाद पी वी नरसिंहा राव ने एक सदस्यीय चुनाव आयोग को तीन सदस्यीय बनाया था।
श्री मोदी ने कहा कि राजीव गांधी द्वारा चुनाव आयोग को त्रिसदस्यीय बनाने के निर्णय को वी पी सिंह की सरकार ने पलट कर फिर से एक सदस्यीय कर दिया था। मगर 1993 में तत्कालीन मुख्य चुनाव आयुक्त टी एन शेषन से विवाद के बाद कांग्रेस की नरसिंहा राव की सरकार ने आयोग के कार्यकलाप में हस्तक्षेप करते हुए उसे फिर से तीन सदस्यों में परिवर्तित कर दिया।
चुनाव आयोग में किसी मुद्दे पर सर्वानुमति नहीं होने की स्थिति में बहुमत के आधार पर निर्णय लेने की नियमावली कांग्रेस के कार्यकाल में ही बनाई गई थी। अगर वर्ममान चुनाव आयोग में किसी मुद्दे पर सर्वसम्मति नहीं है तो यह आयोग का आन्तरिक मामला है और इसमें वर्तमान केन्द्र सरकार की कोई भूमिका व हस्तक्षेप नहीं है।
Download
CHUNAV AAYOG-18-05-2019.docx
CHUNAV AAYOG-18-05-2019.PDF



कांग्रेस देश में अस्थिर सरकार और अराजकता की कर रही साजिश
Date : 2019-05-17
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि मुख्य विपक्षी दल बनने की लड़ाई लड़ रही कांग्रेस 10-20 एमपी वाले क्षेत्रीय दल के किसी नेता को पीएम बना कर देश में अस्थिर सरकार व अराजकता पैदा करना चाहती है। मुंगेरी लाल का हसीन सपना देख रही कांग्रेस का इतिहास चरण सिंह, चन्द्रशेखर, देवगौड़ा और गुजराल जैसी कठपुतली सरकार को बाहर से समर्थन देकर फिर चार-छह महीने में गिराने, अस्थिरता पैदा करने और देश को मध्यावधि चुनाव में झोंकने का रहा है।
देश की जनता अनेक बार कमजोर और कांग्रेस की बैसाखी पर चलने वाली सरकार के अंजाम को भुगत चुकी है। 28 जुलाई, 1979 को प्रधानमंत्री बने चौधारी चरण सिंह की सकार को कांग्रेस ने एक महीने भी नहीं चलने दिया और नतीजतन लोकसभा का सामना किए बिना ही उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था। कांग्रेस की दगाबाजी की वजह से मात्र 7 महीने तक चन्द्रशेखर और 10 महीने तक चली देवगौड़ा की सरकार का हस्र भी देश देख चुका है। अल्पमत की आई के गुजराल की सरकार भी अपना एक साल पूरा नहीं कर पाई।
हार तय देख कांग्रेस की मंशा फिर किसी मधुकोड़ा और देवगौड़ा की तलाश करने की है। आखिरी चरण के मतदान के पहले पीएम पद की दावेदारी छोड़ कर कांग्रेस 42 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली ममता, 35-38 सीटों पर चुनाव लड़ रहे मायावती, अखिलेश तथा चन्द्रबाबू नायडू को अपनी जाल में फंसा कर देश में अस्थिरता पैदा करना चाह रही है।
मगर इस बार कांग्रेस का मंसूबा पूरा होने वाला नहीं है, देश की जनता पिछले छह चरणों के चुनाव में ही भाजपा को बहुमत दे चुकी है। आखिरी चरण की 59 सीटों पर जीत हासिल कर नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में प्रचंड बहुमत के साथ एनडीए की सरकार सुनिश्चित है।
Download
CONGRESS-17-05-2019.docx
CONGRESS-17-05-2019.PDF



आयोग राजद की तरह टीएमएसी पर भी लगाए लगाम
Date : 2019-05-16
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि लालू-राबड़ी के राज में आज जो प. बंगाल में हो रहा है ठीक उसी तरह बिहार में भी बूथ लूट, चुनावी हिंसा,गरीब-कमजोर वर्ग के मतदाताओं को मतदान से रोकने आदि के कारण चुनाव आयोग को पूरे के पूरे संसदीय व विधानसभा क्षेत्रों का चुनाव रद्द कर पुनर्मतदान कराना पड़ता था। अन्ततः टी एन शेषन जैसे तत्कालीन मुख्य चुनाव आयुक्त की सख्ती से राजद के बूथ लुटेरों व गुंडों पर लगाम लगा। आज बंगाल में भी टीएमसी की गुंडागर्दी के खिलाफ आयोग को वैसी ही सख्ती बरतने की जरूरत है। बूथ लूट और चुनावी हिंसा के डेढ़ दशकीय दौर में बिहार में जहां 641 लोग मारे गए थे वहीं छपरा, पूर्णिया और दो-दो बार पटना संसदीय क्षेत्र तथा दानापुर विधान सभा क्षेत्र के सम्पूर्ण मतदान को रद्द कराना पड़ा था। धांधली और बूथ लूट की शिकायतों के बाद 1990 के बिहार विधान सभा चुनाव में 1,239, 1995 में 1,668 और 2000 में 1,420 मतदान केन्द्रों पर चुनाव आयोग को पुनर्मतदान का निर्णय लेना पड़ा था। टीएमसी और ममता बनर्जी की तरह तब बिहार में भी राजद-कांग्रेस के लोग चुनावी हिंसा, धांधली, बूथ लूट को नजरअंदाज कर आयोग के पुनर्मतदान के निर्णयों के विरोध में खड़े रहते थे। आयोग की कड़ी कार्रवाई से न केवल राजद के बूथ लुटेरों पर नकेल कसा बल्कि हिंसा का दौर भी थमा। चुनाव आयोग द्वारा प. बंगाल के हालात के मद्देनजर एक दिन पहले चुनाव प्रचार को रोकना कोई अप्रत्याशित निर्णय नहीं है। आयोग की कार्रवाई का यह पहला कदम हो सकता है, मगर उसकीे सख्ती और आम मतदाताओं की जागरूकता का बिहार की तरह बंगाल में भी असर होगा।
Download
PRESS RELEASE 1-15-05-2019.docx
PRESS RELEASE 1-15-05-2019.pdf



पाटलिपुत्र लोक सभा क्षेत्र के पालीगंज में आयोजित जनसभा में मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने हुंकार भरते हुए ‘‘फिर से मोदी आएगा’’ कविता सुनाकर विरोधियों पर प्रहार किया और अपनेे दमदार वापसी का शंखनाद किया।
Date : 2019-05-15
फिर से मोदी आएगा, फिर से मोदी आएगा।
खाया है न खायेगा, देश को बचाएगा।
फिर से मोदी आएगा, फिर से मोदी आएगा।
क्यों?
क्योंकि, देश की है आन मोदी, देश की है शान मोदी,
गरीबों की है जान मोदी, हीरो की है खान मोदी,

गुरुओं की वाणी मोदी, गंगा का है पानी मोदी,
राणा की कहानी मोदी, शिवा की जवानी मोदी,
सेहत की दहाड़ मोदी, सब को पछाड़ मोदी,
सबसे आगे आएगा,
अरे फिर से मोदी आएगा।
राज कर जाएगा, फिर से मोदी आएगा।

14 में भी मोदी आया, 19 में भी आएगा,
फिर से मोदी आएगा, फिर से मोदी आएगा।
क्यों? क्योंकि मोदी फिर से आएगा,

तुमको लगता गीदड़ मिलके, शेर को हराएंगे,
उल्लुओं का पूँछ है कि शेर डर जाएंगे,
कुत्ते चाहे कितने भांैके, हाथी हाथी होता है,
नेकी करने वालों का राम भक्त होता है,
भक्त महादेव का, झंडा वही गाडे़गा,
देश के विरोधियों का, कपड़े वही फाडे़गा,
साम दाम दंड भेद, मोदी को मिटाओगे,
खुद श्मशान है, उसे क्या दफ्नाओगे?

फिर से मोदी आएगा, फिर से मोदी आएगा।
Download
PRESS RELEASE 1-15-05-2019.docx
PRESS RELEASE 1-15-05-2019.pdf



नमो को ‘नीच’ कहने वाली कांग्रेस शब्दकोश से चुन-चुन कर दे रही गालियां
Date : 2019-05-14
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि 2017 के गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘नीच’ कह कर गाली देने पर राहुल गांधी ने दिखावे के लिए उन्हें 2 साल के लिए पार्टी से निलम्बित किया था। आज श्री अय्यर ने एक पत्रिका में लिखा है कि ‘वे (नरेन्द्र मोदी) जिस लायक थे, वैसा शब्दों का मैंने प्रयोग किया था।’ 2019 के लोकसभा चुनाव के छठे चरण के मतदान के बाद हार तय देख कर बौखलाई कांग्रेस शब्दकोश से चुन-चुन कर नरेन्द्र मोदी को गालियां दे रही हैं।
कांग्रेस ने नरेन्द्र मोदी के लिए ‘गंदी नाली का कीड़ा, भष्मासुर, बदतमीज, नालायक, झूठ का सौदागर, रावण, सांप-बिच्छु, गद्दाफी, हिटलर, मुसोलनी, जवानों के खून का दलाल, पागल कुत्ता, बंदर आदि गालियां देने के साथ ही उन्हें ‘बोटी-बोटी कर दूंगा’ की धमकी भी दे चुकी है। नेहरू-गांधी परिवार की सत्ता के एकाधिकार को चुनौती देने वाले गरीब परिवार में जन्मे नरेन्द्र मोदी के लिए कांग्रेस जितनी भी गंदी गालियां हो सकती हैं अब तक सब का प्रयोग कर चुकी है।
राहुल गांधी एक ओर तो प्यार की राजनीति करने का दिखावा करते नहीं थकते हैं, दूसरी ओर प्रधानमंत्री को चोर कह कर नारा लगवाते और अपने सिपहसलारों से उन्हें चुन-चुन कर गालियां दिलवाते हैं।
राहुल गांधी की मम्मी सोनिया गांधी के नरेन्द्र मोदी को ‘मौत का सौदागर’ और मणिशंकर अय्यर द्वारा ‘नीच’ कह कर गाली देने का अंजाम कांग्रेस गुजरात में भुगत चुकी है। सत्ता के लिए बौखलाई कांग्रेस की एक-एक गाली का जवाब देश की जनता अपने वोट की ताकत से देकर 2019 के लोकसभा चुनाव में भी उसे धूल चटा देगी।
Download
GALI-14-05-2019.docx
GALI-14-05-2019.pdf



सौदेबाजी के लिए कमजोर सरकार चाहता है विपक्ष
Date : 2019-05-13
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि तथाकथित राजद-कांग्रेस महागठबंधन त्रिशंकु लोकसभा और कमजोर सरकार चाहता है ताकि अपने व अपने परिवार के लिए सौदेबाजी कर सके और चार-छह महीने के बाद देश में फिर से चुनाव कराने की नौबत आ जाए। छठे चरण के चुनाव तक बिहार और देश में भाजपा अपने बलबूते बहुमत के आंकड़े को पार कर चुकी है। आखिरी चरण में बिहार की शेष 8 और पूरे देश की 59 सीटों को जीत कर राजग प्रचंड बहुमत की सरकार बना कर विपक्ष के मंसूबे पर पानी फेर देगा।
केन्द्र में अल्पमत सरकार और कमजोर प्रधानमंत्री की चाह रखने वाले तेजस्वी यादव रेलवे टेंडर घोटाले में चार्जशीटेड और बेल पर हैं तो लालू प्रसाद चारा घोटाले के चार-चार मामले में सजायफ्ता होकर जेल में हैं। राहुल गांधी नेशनल हेराल्ड मामले में बेल पर हैं और ममता बनर्जी चीटफंड घोटाले में आरोपित हैं। ये सभी किसी मधुकोड़ा और देवगौड़ा की तलाश में हैं, जिसे प्रधानमंत्री बना कर ये अपनी मनमर्जी कर सकें।
देश की जनता इनकी चाल को सफल नहीं होने देगी, क्योंकि देश चैधरी चरण सिंह, चन्द्रशेखर, आई के गुजराल और एच डी देवगौड़ा के कार्यकाल को देख चुका है कि किस तरह कांग्रेस पहले समर्थन दे कर अल्पमत की सरकार बनवाती है और फिर चार-छह महीने बाद सरकार गिरा कर देश में अस्थिरता पैदा करती रही है।
श्री मोदी ने कहा कि छह चरणों के मतदान में लोगों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली मजबूत सरकार की शानदार वापसी सुनिश्चित कर दी है, इसलिए हताशा में डूबा विपक्ष हाय-तौब्बा मचा रहा है।
Download
KAMJOR-13-05-2019.docx
KAMJOR-13-05-2019.pdf



पाकिस्तान की खुशी में खुश और सर्जिकल स्ट्राइक पर मायूस होते हैं लालू प्रसाद
Date : 2019-05-12
उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राहुल गांधी और लालू प्रसाद पाकिस्तान की खुशी में खुश होते हैं, लेकिन सर्जिकल स्ट्राइक और विंग कमांडर अभिनंदन की सकुशल वापसी जैसी गर्व करने वाली घटनाओं से इनके चेहरे पर मायूसी छा जाती है।
उप मुख्यमंत्री ने कहा कि अमेरिकी पत्रिका टाइम में भारत के लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निंदात्मक लेख छपने से भी लालू प्रसाद इतने खुश हुए कि तुरंत उसके समर्थन में ट्वीट कर दिया। उन्होंने यह जानने की कोशिश भी नहीं की कि भारत के सम्मान और विकास के लिए प्रतिबद्ध प्रधानमंत्री पर टिप्पणी करने वाला पत्रकार पाकिस्तानी नागरिक है। क्या एक पाकिस्तानी से कोई निष्पक्ष लेख की आशा कर सकता है?
श्री मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद ने आतंकवाद की नर्सरी चलाने वाले पाकिस्तान की कभी निंदा नहीं की, लेकिन पाकिस्तान में घुस कर आतंकी कैम्प नष्ट करने वाले प्रधानमंत्री मोदी के विरुद्ध दुराग्रहपूर्ण लेख का समर्थन आंख मूंद कर किया।
श्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस और राजद भारत के टुकड़े-टुकड़े करने वाली देशी-विदेशी साजिश में शामिल हैं इसलिए देशद्रोह कानून खत्म करना चाहते हैं। मतदाता अपने एक-एक वोट से भारत विरोधी दलों को सबक सिखायेंगे।
Download
WhatsApp Image 2019-05-12 at 11.46.25 AM.jpeg
LALU PRASAD-12-05-2019.docx



राजद और कांग्रेस के जमाने में कागज पर सिमट कर रह जाती थी बाढ-सूखे की राहत
Date : 2019-05-11
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राजद-कांग्रेस के जमाने में बाढ़ और सूखे की राहत कागज तक सिमट कर रह जाती थी और पीड़ित किसान टकटकी लगाए रह जाते थे। बाढ़ आने के तीन महीने बाद लाभार्थियों की सूची तैयार होती थी और 5-10 किलो अनाज बंटते-बंटते फिर बाढ़ आ जाती थी। उनके शासनकाल में सूखा पीड़ितों को राहत देने की कभी कोई परिपाटी ही नहीं थी।
वहीं एनडीए की सरकार ने इस साल अल्प वर्षा और सूखे की स्थिति के मद्देनजर 25 जिले के 280 प्रखंडों को सूखाग्रस्त घोषित कर 14 लाख से ज्यादा किसानों को 913.92 करोड़ रुपये का अनुदान वितरित किया है। सूखाग्रस्त किसानों को सिंचित क्षेत्र के लिए अधिकतम दो हेक्टेयऱ के लिए 27000 रुपये और असिंचित क्षेत्र के लिए 13.600 रुपये की सहायता राशि दी गयी है।
इसी प्रकार 2017 में आई अचानक बाढ़ के बाद 38 लाख से अधिक पीड़ित परिवारों के बैंक खाते में 6-6 हजार रुपये की दर से 2290 करोड़ की तत्काल मदद देने के साथ ही बाढ़ राहत के कार्यों पर सरकार ने 4188 करोड़ रुपये खर्च किया।
किसानों-गरीबों को बरगला कर वोट लेने वाली राजद-कांग्रेस को इसीलिए विकास पर चर्चा करने से भी परहेज है। बिहार की जनता अच्छी तरह जानती है कि राज्य व केन्द्र की एनडीए सरकार चतुर्दिक विकास के साथ ही आपदा के समय भी पूरी मुस्तैदी से उनके साथ खड़ी रहने वाली है
Download
RAHAT-11-05-2019.docx
RAHAT-11-05-2019.PDF



बिना छुट्टी 18 घंटे काम करने वाला पीएम चाहिए या महीनों विदेश में छुट्टियां मनाने वाला
Date : 2019-05-10
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि देश को तय करना है कि उसे 5 साल बिना छुट्टी लिए 18 घंटे काम करने वाला नरेन्द्र मोदी जैसा प्रधानमंत्री या हर दूसरे-तीसरे महीने भारत की गर्मी से परेशान होकर, संसद के चलते सत्र तक को नजरअंदाज कर अपनी मम्मी को बताये बिना स्वीट्जरलैंड और यूरोप की ठंडी वादियों में छुट्टियां मनाने वाला राहुल गांध्ंाी चाहिए।
राहुल गांधी बतायें कि क्या 1987 में उनके पिता व तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी लक्ष्यद्वीप के बंगाराम द्वीप पर छुट्टियां मनाने आईएनएस विराट से अपने व मित्रों के परिवार तथा विदेशी रिश्तेदारों के साथ नहीं गए थे? उनके साथ पत्नी सोनिया गांधी, पुत्री प्रियंका, पुत्र राहुल, मित्र अमिताभ बच्चन का पूरा परिवार, सोनिया गांधी की मां, बहन और उनके बच्चे तथा बहन के पति वाल्टर विंची, सोनिया गांधी की एक जर्मन मित्र वहां क्या कर रहे थे?
श्री मोदी ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी अपने कार्यकाल में नए साल, क्रिसमस एवं अन्य छुट्टियां मनाने कभी अंडमान, तो कभी लक्ष्यद्वीप व अन्य जगहों पर जाते थे और इसके लिए आईएनएस विराट के साथ आईएनएस विंघ्यगिरी, तारागिरी व आईएनएस गंगा तथा सरकारी साधनों का उपयोग किया करते थे।
वहीं, 12 साल तक गुजरात के मुख्यमंत्री और 5 साल से देश के प्रधानमंत्री रहे नरेन्द्र मोदी ने 17 साल से एक दिन की भी छुट्टी लिए बिना मात्र 3-4 घंटे की नींद लेकर 18 घंटे तक काम करते रहे हैं। देश ने अनथक, अविराम काम करने वाले नरेन्द्र मोदी को फिर एक बार मौका देने का मन बना लिया है।
Download
KAISA HO PM-10-05-2019.docx
KAISA HO PM-10-05-2019.PDF



कोर्ट में माफी मांगने के बावजूद राहुल गांधी को जनता नहीं बख्शेगी
Date : 2019-05-09
उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि रफाल विमान सौदे में सुप्रीम कोर्ट की क्लीनचिट के बावजूद प्रधानमंत्री को चोर कहने वाले राहुल गांधी बिना शर्त माफी मांग कर भले ही कानूनी कार्रवाई से बच गए लेकिन उन्होंने न जनता की अदालत में माफी मांगी है, न लोग एक ईमानदार प्रधानमंत्री को लांछित करने का उनका गुनाह माफ करने वाले हैं।
उन्होंने कहा कि लड़ाकू विमान खरीदने में अड़ंगेबाजी करने वाली कांग्रेस वायुसेना को कमजोर करने की विदेशी साजिश का साथ दे रही है। चुनाव के बाद राहुल गांधी कांग्रेस को इतिहास के कूड़ेदान में पहुंचाने वाले अध्यक्ष साबित होंगे।
उप मुख्यमंत्री ने कहा कि 12 साल तक मुख्यमंत्री रहने के बाद भी नरेंद्र मोदी पर कोई आरोप नहीं लगा। प्रधानमंत्री बनने पर उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक करने के लिए एसआईटी का गठन किया और बेनामी सम्पत्ति जब्त करने का कड़ा कानून बनाया। देश में 7000 करोड़ और विदेशों में 1600 करोड़ की बेनामी सम्पत्ति जब्त की गई।
श्री मोदी ने कहा कि राजीव गांधी की सरकार के समय जनता के एक रुपये में से 85 पैसे बिचैलिये खा जाते थे। एनडीए सरकार द्वारा 8 करोड़ फर्जी एवं डुप्लीकेट राशन कार्ड तथा गैस कनेक्शन रद्द किए गए।। पैसे सीधे लाभार्थी के खाते में डाले गए, जिससे 1 लाख 10 हजार करोड़ की चोरी बंद हुई।
राहुल गांधी यूपीए सरकार में पनपे चोरों को बचाने के लिए चैकीदार को ही चोर बता रहे हैं। पांच चरणों के मतदान में जनता उनके बारे में फैसला कर चुकी है।
Download
RAHUL-09-05-2019.docx
RAHUL-09-05-2019.pdf



पांचवे चरण के बाद हार तय देख बौखला गया है विपक्ष
Date : 2019-05-08
पांचवे चरण के मतदान के बाद हार तय देख विपक्ष बौखला गया है। अहंकार में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी प्रधानमंत्री को थप्पड़ मारने की धमकी दे रही हैं तो प्रियंका गांधी वाड़ªा उन्हें दुर्योधन और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दंगाई बता रहे हंै। बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी नरेन्द्र मोदी को जल्लाद बता रही है तो विपक्ष की ओर से वाराणसी से खड़ा किया गया उम्मीदवार तेज बहादुर सिंह कह रहे है कि कोई उन्हें 50 करोड़ दे तो वे प्रधानमंत्री को मार देंगे। भोपाल से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह अपनी हार बचाने के लिए किसी कम्प्यूटर बाबा के सहयोग से एक हजार साधुओं को जुटा कर ‘हठ योग’ और हवन-पूजन करवा रहे हैं। राहुल गांधी के बेहद करीबी सैम पित्रोदा बयान देते हैं कि कुछ आतंकियों के हमले की सजा पूरे पाकिस्तान को क्यों देना चाहिए। दूसरी ओर कुछ कांग्रेसी कांग्रेस के कार्यकाल में पाकिस्तान के खिलाफ छह सर्जिकल स्ट्राइक होने का झूठ गढ़ रहे हैं। पांचवे चरण के मतदान के साथ देश की 425 संसदीय सीटों पर चुनाव सम्पन्न हो चुका है। जनता के मूड को भांप कर विपक्ष हताशा और निराशा में प्रधानमंत्री को अनाप-शनाप बोल रहा है। विपक्ष जितना ही बौखला रहा है देश की जनता ‘ फिर एक बार, मोदी सरकार’ का नारा लगा रही है।
Download
WhatsApp Image 2019-05-08 at 1.56.23 PM.jpeg
WhatsApp Image 2019-05-08 at 5.26.41 PM.jpeg



मिस्टर क्लीन पर लगे बोफोर्स तोप दलाली और दंगों के दाग
Date : 2019-05-07
उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राजीव गांधी की सरकार न केवल भ्रष्टाचारी थी, बल्कि सिख नरसंहार और भागलपुर दंगे के कारण वह देश की सबसे ज्यादा असहिष्णु सरकार थी। पूर्व प्रधानमंत्री ने खुद स्वीकार किया था कि जनता के पास एक रुपये में सिर्फ 15 पैसे पहुंचते थे। मिस्टर क्लीन के दामन पर हिंसा और घोटाले के दाग थे।
उप मुख्यमंत्री ने कहा कि बोफोर्स तोप घोटाले और क्वात्रोच्चि को मिली करोड़ों रुपये की दलाली के बारे में जब देश पहले ही बहुत कुछ जान चुका है, तब एक पूर्व प्रधानमंत्री के भ्रष्टाचार का जिक्र कांग्रेस को आचार संहिता का उल्लंघन क्यों लग रहा है?
दूसरी तरफ राहुल गांधी राफेल विमान सौदे में कैग, फ्रांस की सरकार और सुप्रीम कोर्ट की क्लीनचिट के बावजूद गरीब-पिछड़े परिवार से आये ईमानदार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चोर बता रहे हैं।
कांग्रेस बतायें कि प्रियंका गांधी क्या चौकीदार को चोर बताने वाले नारे लगवा कर आचार संहिता का पालन कर रही हैं? क्या नेहरू- गांधी-राजवंश के लिए अलग आचार संहिता लागू है
Download
MISTER CLEAN-07-05-2019.docx
MISTER CLEAN-07-05-2019.PDF



2014 में थी नमो की आंधी तो 2019 में है सुनामी
Date : 2019-05-06
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि 2019 में नरेन्द्र मोदी की आंधी थी तो 2019 में उनकी सुनामी चल रही है। तब देश की जनता नरेन्द्र मोदी को 12 वर्षों तक गुजरात के मुख्यमंत्री के नाते जानती थी वहीं अब 5 साल तक देश के लिए बेहतरीन काम करने वाले वाले प्रधानमंत्री के रूप में जानती हैं। 5 साल सत्ता में रहने के बावजूद आज देश के 100 में से 70 लोगों की पहली पसंद नरेन्द्र मोदी हैं।
2014 में लोकसभा चुनाव से पहले देश के 6 राज्यों में भाजपा की सरकार थी जबकि 2019 में 16 राज्यों के साथ केन्द्र में भी सरकार है। उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड के साथ असम, त्रिपुरा सहित उत्तर-पूर्व के अधिकाश राज्यों में भाजपा की सरकार है। क्षेत्रीय दलों के शासन वाले बंगाल, ओडिशा में भी भाजपा आज मुख्य चुनौती बनी हुई है।
2014 में पूरे देश में जहां भाजपा के मुश्किल से 1 करोड़ सदस्य थे वहीं 2019 में भाजपा 10 करोड़ सदस्यों वाली दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बन चुकी है तथा देश के प्रत्येक बूथ तक कार्यकर्ताओं की पहुंच हैं। केन्द्र व राज्य में सरकार नहीं होने के बावजूद 2014 में बिहार में एनडीए को 31 सीट पर सफलता मिली थी, 2019 में दोनों सरकारों के काम के आधार पर जनता वोट कर रही है।
नरेन्द्र मोदी के मजबूत नेतृत्व का ही परिणाम है कि आज पूरी दुनिया में भारत का डंका बज रहा है। इसीलिए देश की जनता पार्टी, जाति, धर्म से ऊपर उठ कर भाजपा को वोट दे रही है। मुद्दाविहीन विपक्ष नरेन्द्र मोदी को हटाना चाहता है तो देश की जनता ‘फिर एक बार, मोदी सरकार’ के नारे से उसके मंसूबे का ध्वस्त कर रही है।
Download
BJP-06-05-2019.docx
BJP-06-05-2019.pdf



शहाबुद्दीन, राजबल्लभ के सताये लोगों के लिए राबड़ी ने चिट्ठी क्यों नहीं लिखी?
Date : 2019-05-05
उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि चार चरण के मतदान के बाद जब महामिलावटी गठबंधन की नाव डूबती नजर आ रही है, तब राबड़ी देवी मतदाताओं की इमोशनल ब्लैकमेलिंग के लिए चिट्ठी लिख रही हैं।
उप मुख्यमंत्री ने कहा कि राजद के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन ने सिवान में पत्रकार राजदेव रंजन और व्यवसायी चंदा बाबू के तीन बेटों सहित जिन कई लोगों की हत्याएं करवाईं, उनके शोकसंतप्त परिजनों के लिए न कभी राबड़ी देवी की भावनाएं जगीं, न उन्होंने कोई चिट्ठी लिखी। श्री मोदी ने सवाल किया कि राजद के ही पूर्व विधायक राजबल्लभ यादव ने एक नाबालिग छात्रा से बलात्कार किया, लेकिन महिला होकर भी क्या राबड़ी देवी ने पीड़ित बच्ची के परिवार का दर्द बांटने के लिए कोई चिट्ठी लिखी?
उन्होंने कहा कि जब उन्हें जनता के दुख-दर्द नहीं दिखे, तब अपने सजायाफ्ता-पति को पीड़ित की तरह दिखाने के लिए चुनाव के समय चिट्ठी लिख कर सहानुभूति क्यों पाना चाहती हैं?
कोर्ट के फैसले पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए श्री मोदी ने कहा पुत्र मोह में संन्यास तोड़ कर लौटे जिस राजद नेता ने कभी लालू प्रसाद को चारा घोटाले का गुनहगार माना था, वही अब लालू चालीसा पढ़ कर अपनी भक्ति सिद्ध कर रहे हैं और न्यायपालिका को जातिवादी बताने की मुहिम चला रहे हैं।
वे अनुकूल फैसलों के समय न्यायपालिका पर भरोसा करते हैं, जबकि जमानत नहीं मिलने पर जातिवादी राजनीति करने लगते हैं। उन्होंने कहा कि जब जनता की अदालत इन्हें खारिज करती है, तब ईवीएम पर सवाल उठाते हैं। जिन्हें लोकतंत्र की किसी संस्था पर विश्वास नहीं, वे ही लोकतंत्र बचाने का नाटक करते हैं।
Download
EMOTIONAL-05-05-2019.PDF
EMOTIONAL-05-05-2019.docx



जेल से चलने वाली पार्टी की जमानत जब्त करायेगी जनता
Date : 2019-05-04
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि राजद के स्वयंभू राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद के साथ उनके चार-चार सिपहसलार मो. शहाबुद्दीन, राजबल्लभ यादव, इलियास हुसैन और प्रभुनाथ सिंह हत्या, बलात्कार व भ्रष्टाचार के संगीन मामलों में जेल में बंद हैं। जो पार्टी जेल से चलती हो, जिसके सारे फैसले जेल से लिए जाते हो, उम्मीदवारों के नाम जेल से तय होते हो, क्या वैसी पार्टी के उम्मीदवारों की जमानत जनता को जब्त नहीं करा देनी चाहिए?
भ्रष्टाचार के मामले में हाथी पर चढ़ कर जेल जाने वाले लालू प्रसाद ने न केवल भ्रष्टाचार को बल्कि शहाबुद्दीन जैसे दुर्दांत अपराधी को संरक्षण देकर अपराध कर्म को भी महिमामंडित किया। बलात्कार के आरोपित राजबल्लभ यादव से घंटों एकांत में बातचीत करने से भी लालू प्रसाद को परहेज नहीं रहा। आज पार्टी के पांच-पांच नेता जेल में हैं फिर भी किसी को पार्टी से निकालने की बात कौन कहे, पद से हटाने तक की हिम्मत किसी में नहीं है।
जिस पार्टी का अध्यक्ष ही भष्टाचार के चार-चार मामलों में सजायफ्ता हो, जिसकी राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य तीहरे हत्याकांड सहित हत्या, अपहरण के अनेक मामलों में वर्षों से जेल में बंद हो, जिसके विधायकों की सदस्यता कोर्ट से सजा मिलने के बाद समाप्त की गई हो ऐसी पार्टी से जनता उम्मीद भी क्या कर सकती है। भ्रष्टाचार और अपराध में आकंठ डूबा राजद न तब और न अब सुधरने वाला है।
Download
JAIL-04-05-2019.PDF
JAIL-04-05-2019.docx



मात्र चार साल के राजनीतिक जीवन वाले अकूत सम्पति के मालिक
Date : 2019-05-03
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि 12 साल से ज्यादा समय तक गुजरात के मुख्यमंत्री और पिछले 5 साल से देश का प्रधानमंत्री रहने वाले नरेन्द्र मोदी के पास स्थायी सम्पत्ति के नाम पर गांधीनगर में विधायक के नाते सरकार द्वारा दी गई जमीन का एक टुकड़ा है। उसे भी उन्होंने पार्टी को देने का निर्णय लिया है। मगर बिहार के नेता प्रतिपक्ष जो उन्हें पानी पी-पी कर गाली देते नहीं थक रहे हैं अपने मात्र 4 साल के राजनीतिक जीवन और 29 वर्ष की आयु में 52 से अधिक सम्पत्ति के मालिक कैसे बन गए? नेता प्रतिपक्ष के पास कोई पुश्तैनी सम्पत्ति नहीं थी। इंटर तक की पढ़ाई नहीं कर पाए। क्रिकेट में भी विफल रहे। कोई उद्योग-व्यवसाय नहीं किया। 4 साल पहले पहली बार विधायक चुने गए। आखिर ऐसी क्या योग्यता थी और सदाचार की किस कमाई के बलबूते 52 सम्पत्ति के मालिक बन गए? नेता प्रतिपक्ष को खुलासा करना चाहिए कि दानापुर, सगुना की जिस 3 एकड़ जमीन पर उनका 750 करोड़ का माॅल बन रहा था उस जमीन का मालिक कैसे बने? दिल्ली के पाॅश डिफेंस काॅलोनी में 4 मंजिला आलीशान मकान, गोपालगंज में दो मंजिला मकान, पटना में दो-दो दो मंजिला मकान, टिस्को के दो मंजिला ब्लिडिंग सहित 47 भूखंडों के मालिक कैसे बने?
Download
SAMPATTI-03-05-2019.PDF
SAMPATTI-03-05-2019.docx



मसूद का वैश्विक आतंकी घोषित होना नमो की कुटनीतिक जीत
Date : 2019-05-02
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि उरी और फुलवामा के आतंकी हमले के बाद नरेन्द्र मोदी की कुटनीति का ही नतीजा रहा कि पाकिस्तान जहां दुनिया में अलग-थलग पड़ गया वहीं चार बार से मसूद को बचाने के लिए वीटो का प्रयोग करने वाले चीन को भी अन्ततः अपना स्टैंड बदलने के लिए बाध्य होना पड़ा।
नरेन्द्र मोदी के कुटनीतिक वैश्विक दबाव के आगे ही मजबूर होकर पाकिस्तान को उसके एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराने वाले पाक सीमा में गिरफ्तार भारतीय विंग कमांडर अभिनन्दन को 48 घंटे के अंदर रिहा करने के लिए बाध्य होना पड़ा।
प्रधानमंत्री के विदेश दौरे का मजाक उड़ाने वालों को तब मूंह की खानी पड़ी जब यूएई के क्राउन प्रिंस ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपने देश के सर्वोच्च सम्मान ‘जायद मेडल’ से सम्मानित किया। पाकिस्तान के बहिष्कार के बावजूद यूएई की राजधानी अबूधाबी में 1969 में गठित 57 इस्लामिक देशों के संगठन ओआईसी में पहली बार भारत की रक्षा मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज को बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किया गया।
मसूद का वैश्विक आतंकी घोषित होना अभी टेलर मात्र है, आगे बहुत कुछ होना बाकी है। नरेन्द्र मोदी का तो प्रण है-‘ सौगंध मुझे इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा, मैं देश नहीं झूकने दूंगा।’
Download
MASOOD-02-05-2019-PDF.pdf
MASOOD-02-05-2019.docx



अपने दौर के चुनावी हिंसा को भूल गया है विपक्ष
Date : 2019-04-30
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि एनडीए पर बूथ लूट का आरोप लगाने वाला विपक्ष अपने दौर के बूथ लूट और चुनावी हिंसा को भूल गया है। 1990 से लेकर 2004 तक हुए लोकसभा, विधानसभा व पंचायत के कुल 9 चुनावों में हुई हिंसक घटनाओं में 641 लोग मारे गए थे। 2000 के विधानसभा चुनाव में 39 स्थानों पर फायरिंग हुई थी तथा चुनावी हिंसा में 61 लोग मारे गए थे। 1990 में 87 तथा 1999 में 76 लोग चुनावी हिंसा के शिकार हुए थे। 2001 के पंचायत चुनाव में 196 लोगों की अपनी जान गंवानी पड़ी थी।
श्री मोदी ने कहा कि 1998 के लोकसभा चुनाव में राजद के दो दर्जन मंत्री,विधायकों पर बूथ लूट,हिंसा व मतदान में बाधा उत्पन्न करने के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए गए थे। बिहार देश का अकेला ऐसा राज्य था जहां चुनावी हिंसा और बूथ लूट के कारण सर्वाधिक पुनर्मतदान कराने की नौबत आती थी। बड़े पैमाने पर बूथ लूट और हिंसा का ही नतीजा था कि 2004 में छपरा लोकसभा क्षेत्र जहां से लालू प्रसाद चुनाव लड़ रहे थे तथा 90 के दशक में पूर्णिया और दो-दो बार पटना लोकसभा का चुनाव स्थगति करना पड़ा था। 1995 के बिहार विधान सभा चुनाव में बूथ लूट की व्यापक शिकायत पर ही 1668 मतदान केन्द्रों पर पुनर्मतदान कराना पड़ा था।
2005 में एनडीए की सरकार आने के पहले हर चुनाव में बूथ लूट, हिंसा, मारपीट, बैलेट बाॅक्स की छीना झपटी, बक्शे में स्याही डालने की घटना आम थी। आम मतदाता से लेकर मतदानकर्मी तक चुनाव से डरे-सहमे रहते थे। राजद-कांग्रेस बूथ लूट का झूठे आरोप लगा कर ईवीएम का इसलिए विरोध कर रहे हैं ताकि एक बार फिर चुनावी हिंसा के जरिए जंगल राज कायम किया जा सके।
Download
CHUNAVI HINSA-30-04-2019.pdf
CHUNAVI HINSA-30-04-2019.docx



नमो को फर्जी ओबीसी बता पिछड़ों का अपमान कर रहा विपक्ष
Date : 2019-04-29
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि कभी कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने नरेन्द्र मोदी को ‘नीच जाति’ का कहा था, अब राजद-कांग्रेस के नेता प्रधानमंत्री को फर्जी ओबीसी बता कर राजनीतिक जलन में पिछड़े वर्गों का अपमान कर रहे हैं। असली ओबीसी का दावा करने वालों कोे बताना चाहिए कि आज वे खुद ‘एम-वाई’ तक सिमट कर क्यों रह गए हैं? पिछड़ों को ठग कर 15 वर्षों तक राज करने वालों का तो नारा ही था-‘जात-पांत जपना, जनता का माल अपना।’
बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल जो नरेन्द्र मोदी की जाति पर सवाल उठा रहे हैं नरेन्द्र मोदी के मुख्यमंत्री बनने के पहले कांग्रेस की उस छबिल दास मेहता की सरकार में खुद मंत्री थे, जिसने 25 जुलाई, 1994 को गुजरात की मोध घांची (नरेन्द्र मोदी की जाति) को पिछड़ी जाति में शामिल किया था। गुजरात की धांची ही बिहार, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़ सहित देश के आधे दर्जन राज्यों में ‘तेली’ के नाम से जाने जाते हैं।
राजनीति में पिछड़ों को बंधुआ मजदूर समझने वालों के ढोंग को उजागर कर जब नरेन्द्र मोदी ने उनके एकाधिकार को तोड़ा तो अब उन्हें जलन हो रही है। आज पिछड़े वर्ग की सभी जातियां पूरी तरह से नरेन्द्र मोदी के पीछे खड़ी है। नरेन्द्र मोदी को दी गई हर गाली व अपमान का बदला अपने वोट से केवल पिछड़े वर्ग के लोग ही नहीं, पूरे देश की जनता लेगी।
Download
JATI-29-04-2019.PDF
JATI-29-04-2019.docx



Insert title here