पटना 20.04.2017

पूर्व उपमुख्यमंत्री सुषील कुमार मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीष कुमार को पत्र लिख कर उनका ध्यान मंत्री तेंज प्रताप यादव द्वारा चुनाव आयोग एवं बिहार सरकार से औरंगाबाद में अपने नाम से रजिस्ट्री कराई गई 53 लाख की 45 डिसमिल जमीन की सही जानकारी जानबूझकर छुपाये जाने की ओर आकृष्ट किया है। श्री मोदी ने लिखा है कि धोखाधड़ी एवं जानबूझकर बेनामी सम्पत्ति को छुपाने के कुत्सित प्रयास के आरोप में मंत्री को तत्काल बर्खास्त करते हुए प्राथमिकी दर्ज कर आवष्यक कानूनी कार्रवाई की जाए।

तेज प्रताप यादव द्वारा औरंगाबाद में 16 जनवरी, 2010 को 7 लोगों से 53 लाख 34 हजार रूपये में 45.24 डिसमिल जमीन की रजिस्ट्री अपने नाम से करायी गई। पुनः 2 फरवरी, 2012 को इस जमीन को गिरवी ;उवतजहंहमद्ध रखकर मध्य बिहार ग्रामीण बैंक, औरंगाबाद से 2 करोड़ 29 लाख 60 हजार रु. का ऋण लिया गया। वर्तमान में इस जमीन पर लारा डिस्ट्रिब्यूटर्स प्रा. लि. का भवन बना हुआ है और इसमें हीरो होन्डा मोटरसाईकिल का शो रूम है।

श्री मोदी ने लिखा है कि तेज प्रताप यादव ने वर्ष 2015 के विधान सभा चुनाव के दौरान दिये गये अपनी सम्पत्ति के ब्यौरे में औरंगाबाद हाइवे पर अवस्थित इतनी महत्वपूर्ण जमीन और इसपर प्राप्त ऋण संबंधी तथ्य छुपा लिया। साथ ही, वर्ष 2016 में बिहार सरकार को अपनी सम्पत्ति के संबंध में दिए गए ब्यौरे में भी उन्होंने इसका उल्लेख नहीं किया। यह धोखाधड़ी और जानबूझकर बेनामी सम्पत्ति को छुपाने का कुत्सित प्रयास है। 

श्री मोदी ने कहा है कि तेज प्रताप यादव को मंत्री पद से तत्काल बर्खास्त करते हुए उनके विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज आवश्यक कानूनी कार्रवाई कर मुख्यमंत्री अपनी न्यायप्रियता का परिचय दें।

(नोट- इस विज्ञप्ति के साथ मुख्यमंत्री को लिखा गया पत्र और औरंगाबाद की जमीन का डिटेल्स संलग्न है।)